By samachar360 | 18th January 2021

बलूचिस्तान और उत्तरी वजीरिस्तान में दो अलग-अलग हमलों में पाकिस्तानी सेना के 12 जवान मारे गए

 बलूचिस्तान के ग्वादर जिले और उत्तरी वजीरिस्तान के आदिवासी जिले में दो अलग-अलग हमलों में गुरुवार को पाकिस्तानी सेना के 12 जवान मारे गए। हमले की घटना के तुरंत बाद, राजमार्ग को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया और पाकिस्तान के सुरक्षाबलों ने इलाकों की घेराबंदी कर ली है और तलाशी अभियान शुरू कर दिया है।

बलूचिस्तान के ओरमारा में तटीय राजमार्ग पर राज्य तेल और गैस विकास कंपनी लिमिटेड (Oil and Gas Development Company Ltd-OGDCL) के एक काफिले पर हमला होने की घटना में कम से कम छह सुरक्षाकर्मी मारे गए। एक सुरक्षा सूत्र ने कहा कि सेना का वाहन ग्वादर के बंदरगाह शहर कराची की तरफ जा रहा, जब वे अपने गंतव्य से लगभग 250 किमी (155 मील) दूर छोटे शहर ओरमारा में घात लगाए थे।

घटनाओं के तुरंत बाद, बलूच राजी अजोई सिंगर (बरास) संगठन ने एक ट्विटर पोस्ट में हमले की जिम्मेदारी लेते हुए दावा किया कि वे जल्द ही एक इस पर विस्तृत बयान जारी करेंगे। बलूच राजी अजोई सिंगर (बरास) संगठन, एक सशस्त्र जातीय बलूच अलगाववादी समूहों का एक गठबंधन है, जो पाकिस्तान से स्वतंत्रता की मांग करता है। BRAS (बरास) और उसके सहयोगी देश के सबसे बड़े और सबसे कम विकसित क्षेत्र पाकिस्तान के दक्षिण-पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत में सुरक्षा बलों और नागरिकों को निशाना बनाते हुए नियमित रूप से हमले करते हैं।

एक अन्य हमले  में, उत्तरी वज़ीरिस्तान के रज़माक क्षेत्र के पास एक IED (improvised explosive device) विस्फोट के बाद पाकिस्तान के छह सैन्यकर्मी मारे गए। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के वर्चस्व वाले उत्तरी वज़ीरिस्तान और दक्षिण वज़ीरिस्तान के उत्तर-पश्चिमी जिलों में इस साल हिंसा बहुत बढ़ रही है, जिसमें सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर कई हमले किए गए हैं।

घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, प्रधान मंत्री इमरान खान ने दोनों हमलों में मारे गए कर्मियों के परिवारों के साथ दुख व्यक्त किया। 

पाकिस्तान के प्रमुख अख़बार डॉन के अनुसार, बलूचिस्तान देश के प्रमुख चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के लिए आवश्यक है, जो चीन की बेल्ट एंड रोड इंफ्रास्ट्रक्चर पहल का हिस्सा है। कॉरिडोर चीन के पश्चिमी प्रांत शिनजियांग को ग्वादर से जोड़ने का प्रयास करता है, जिससे बीजिंग को अरब सागर तक पहुँचा जा सके।

पिछले साल अप्रैल में, इसी इलाके में ऐसे ही एक हमले में कम से कम 14 लोग मारे गए थे जब बंदूकधारियों ने गुरुवार के हमले के रूप में उसी क्षेत्र में अपने वाहनों पर हमला किया था।


Leave your comment here

Connect with us